शनिवार, 1 अगस्त 2020

दोस्तों की खैरियत


दोस्तों की खैरियत

भाई - बहन है, मां - बाप है
जिंदगी के इस दौर में वो
एक सहारा और गाठ है
बाते गंदी हो या हो बंदी की
सारे पता कर लेते हैं
ओ मेरे दोस्त , ओ मेरे यार
तू इस दुनिया में अनमोल है।

ऋतिक दोस्त न, भाई सा है
रौशन तू कितना अपना है
वंदना जो मेरी दोस्त थी
आज वो मेरी बहन से कम नहीं
ऋतिक रंजन, सर्वजीत,
तस्लीम, विकाश, अभिषेक
साजिद आदि सब मेरे यार हैं।

इस दुनिया का गजब सा रित हैं
वो दोस्त को दुश्मन और
दुश्मन को दोस्त बना देता
जो कल तक एक थाली में खाएं
वो आज उसी में छेद कर देता हैं।
जो कल तक अपना था
वो आज पराया बन गया।

ओ भगवान, ओ अल्लाह
मेरे दोस्त - यार को हमेशा सलामत रखना
उसके तबियत की खैरियत के लिए
मुझे तुम अपने सरण में बुला लेना।

न रोने देना कभी उसको
न खोने देना कभी उसको
उसके जिंदगी के लिए तू
मेरा जिंदगी ले लेना।


Sent from vivo smartphone

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें