सोमवार, 3 अगस्त 2020

उदासियां छा जाती जीवन में तब दोस्ती श्रृंगार बन जाती है।

"Happy friendship day" 
************************
 उदासियां छा जाती जीवन में तब दोस्ती श्रृंगार बन जाती है।
गहरे ज़ख्मों का भी संजीवनी बनकर उपचार बन जाती है।।
नफरत -द्वेष, झूठ - फरेब से ये रहती है हमेशा  ये परे,
अपनी निच्छल दोस्ती के रंगों से ये प्रेम संसार बन जाती है।।

नीरस भरे जीवन में दोस्ती ही खुशियों का आधार होती है।, 
कुदरत का दिया हुआ यही जहां में अनमोल उपहार होती है।।, 
गुमराह करने वाली राहों से बचाकर यथार्थ बोध कराती दोस्ती, 
हर कदम पर साथ निभाकर बदलते जीवन का सार होती है।
**************************
* * एकता कुमारी * *

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें