शुक्रवार, 21 अगस्त 2020

कवि निर्दोष लक्ष्य जैन द्वारा रचित कविता 'प्यारी बिटिया'

सुनो प्यारी बिटिया सुनो मेरा कहना 
              सुनो प्यारी बिटिया सुनो मेरा कहना 
       ये पापा का सपना ये पापा का कहना 
                  भारत माँ का  सदा    मान बढ़ाना 
      पढ़ लिख कर इतिहास रच देना 
                      ज्ञान की गंगा यहां पर बहाना 
      दौलत शोहरत के ना पिछे जाना 
                     बच्चों पर ज्ञान की गंगा बहाना 
     ये ही कल के भारत ये जान लेना 
                     बेटा तुम इनका भविष्य बनाना 
     सुनो प्यारी बिटिया सुनो मेरा कहना 
              .......बच्चों मे राष्ट्र प्रेम तुम  जगाना 
     पढ़ लिख कर बेटा शिक्षिका बनना 
                 बच्चों मे ज्ञान की दौलत लूटाना 
     पढ़ लिख कर तुम हे नाम कमाना 
                 बुजुर्गों का अपने   मान  बढ़ाना 
     देश का अपने अभिमान बन जाना 
                 सदा खुश रहना सदा मुस्कराना 
     सुनो प्यारी बेटा सुनो मेरा कहना 
                  शिक्षा जगत मे तहलका मचाना 
      सदा खुश रहना  सदा मुस्कराना 
         ये पापा का कहना ये पापा का सपना 

                             निर्दोष लक्ष्य जैन 
                                     6201698096

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें