शुक्रवार, 21 अगस्त 2020

गणेश चतुर्थी विशेष रचना#प्रीती शर्मा असीम#हिमाचल प्रदेश

श्री गणेशा


 जय मंगलमूर्ति ...श्री गणेशा ।

जय विघ्न विनाशक। हरो कष्ट कलेशा।।


 संपूर्ण विश्व का उद्धार हो।
 जीवन का आविर्भाव हो।

विपदा में दुनिया है सारी ।
बस तुम पर आस बंधी भारी।


अब कोरोना का संहार हो।
 जीवन का नवनिर्माण हो ।
जय मंगलमूर्ति ....श्री गणेशा।
जय विघ्न विनाशक हरो कष्ट कलेशा ।


सारी दुनिया थम -सी गई है ।
तेरी करुणा जम- सी गई है।
 संकट में शुभ और लाभ है। 
व्यवसायों से लक्ष्मी थम- सी गई है।


जय मंगलमूर्ति श्री गणेशा ।

करो कृपा अब कल्याण हो। 
दरिद्रता का कुछ समाधान हो। 

रिद्धि- सिद्धि का विस्तार हो। 
कोरोना का पातक काल हो।


जय मंगलमूर्ति ....श्री गणेशा ।

जीवन का अब विकास हो ।
चिंता का कुछ ह्रास हो ।
शुभ काज का आविर्भाव हो ।
नित नव नवीन संसार है।


स्वरचित रचना 

प्रीति शर्मा असीम

नालागढ़ हिमाचल प्रदेश

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें