शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

मैं कवि हूँ यारों लिखता हूँ मैं किसी से कम नही समझता हूँ


मैं कवि हूँ यारों लिखता हूँ 

   मैं किसी से कम नही समझता हूँ 
                       मैं कवि हूँ यारो लिखता हूँ 
   निडर बेखौफ मैं तो लिखता     हूँ 
                    जो देखता हूँ मैं तो लिखता हूँ 
    नेता अभिनेता मैं नही लिखता 
               जात पात भेद भाव नही लिखता 
   प्यार की बात नित्य करता हूँ 
                 प्यार करता हूँ प्यार लिखता हूँ 
   एकता अखण्डता मैं चाहता हूँ 
                मुस्कराता भारत सदा लिखता हूँ 
   खेत मै किसान मै तो लिखता हूँ 
                 सीमा पे जवान मै तो लिखता हूँ 
    पाक और चाईना भी लिखता हूँ 
                  रोज खबरदार उनको करता हूँ 
    मैं तो कवि हूँ यारों लिखता  हूँ 
                   निडर बेखौफ मैं तो लिखता हूँ 
   आज के हालात मैं तो लिखता हूँ 
                 स्वार्थ के रिश्ते मैं तो लिखता हूँ 
    प्यार के नगमें भी मैं लिखता हूँ 
                 गीत राधा मोहन के मैं लिखता हूँ 
    शहीदो की शहादत मैं तो लिखता हूँ 
                  कोरोना का कहर भी लिखा मेंने 
    इन्सानियत शर्मसार हुई लिखा मेने 
               . .मंदिर मस्जिद मै ताले लिखा मेने 
    जो लिखा बेखौफ लिखा मेने 
           बच्चों की किलकारी मैं तो लिखता हूँ 
   होठों की मुस्कान मैं तो लिखता हूँ 
                 मंदिर मस्जिद नही मैं लिखता हूँ 
    देश कॊ ही तीर्थ धाम समझता हूँ 
                नित्य मिट्टी कॊ शीश लगाता हूँ 
    प्यारा हिंदुस्तान "लक्ष्य" लिखता हूँ 
                      गौ माता का मान लिखता हूँ 
     बुजुर्गों का सम्मान लिखता हूँ 
                         तिरंगे कॊ सलाम करता हूँ 
    नित्य उसका ही जय गान लिखता हूँ 
                        मैं कवि हूँ यारो लिखता हूँ 

                       निर्दोष लक्ष्य जैन 
                                धनबाद झारखंड 
           ............✌ ✌ ६२०१६९८०९६
                                 ०९।०७।२०२०
Badlavmanch

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें