रविवार, 26 जुलाई 2020

अमर शहीदों को शत् - शत् नमन"


अमर शहीदों को शत् - शत् नमन" 🙏🙏🇮🇳 
**********************
जब भी तेरी कुर्बानी याद आती है !
सहमकर मेरी,आँखे गीली हो जाती है!
तेरे दम पै यह गुलशन जो मुस्कुराता है,
जर्रा-जर्रा भी,तेरी शौर्य गाथा सुनाती है।

व्यर्थ नहीं जाने देंगे, हम तेरी  कुर्बानी को, 
तू चला गया,न भूलेंगे तेरी अमिट निशानी को।
न झुकने देंगे तिरंगा ,हे! वीरो,शत् - शत् नमन, 
भले ही बन जाए यह तिरंगा ही मेरा कफन। 
धारण कर चूडियां-पायल तेरी शक्ति बनकर आयेंगे, 
भारत माता की आन की खातिर अपनी जान लुटाएंगे। 
गढेंगे इतिहास नया,लिखेंगे शौर्य की कहानी। 
हमेशा याद आएंगे हमको अमर वीर बलिदानी।
तेरी वीरता के बखान में शब्द पड़ गए मेरे कम।
वीरो तुझको शत-शत नमन,हुई मेरी आंखें नम।
जान से प्यारा है मेरा महबूब वतन।
तन-मन धन सब कुछ तुझको अर्पण।

     ** एकता कुमारी * *
Badlavmanch

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें