शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

जल... मानव प्राणी केलिये, जल जीवन आधार



 जल...
मानव प्राणी केलिये,
जल जीवन आधार//
जल से पंछी पेड़ सब,
हँसता है संसार//

सोने सा अनमोल है,
पीने का जल  शुद्घ//
बूंद बूंद जल के लिये,
होगा इक दिन युद्ध//

धरती को रीचार्ज कर,
उसमें फूकें जान//
जिससेजल की सतह में,
बनी रहे मुस्कान//

जल है सबकी जिंदगी,
इसे न फेकें व्यर्थ//
जल के बिन संसार में,
होगा बहुत अनर्थ//
बृंदावन राय सरल 
सागर मप्र
वृन्दावन राय सरल: मैं वृंदावन राय सरल सागर एमपी 40 साल साहित्य सेवा,   पांच किताबें प्रकाशित।। आयु 70 वर्ष 250 कवि सम्मेलन पढ़ने का अनुभव=
अनेकों सम्मान प्राप्त मोबाइल= नंबर 786 92 अट्ठारह 525==
[09/07, 23:18] वृन्दावन राय सरल:
Badlavmanch

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें