शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

शिव सुखधाम नाम


🌷शिव सुखधाम नाम 🌷
**********************
                   1
सुखद सलोना सुचि शिव सुखधाम  नाम ,
शुभदा सरस पाप पुंज अघहारी है।
लोक ,परलोक बिच शोक को मिटाने वाला ,
भय दुख दारुण त्रैताप क्षयकारी है।
अर्थ धर्म मोक्ष काम चारों फल दने वाला ,
शिव शुभ नाम की अनूठी सवारी है ।
आशुतोष त्रिपुरारी शंकर सु भोले नाम ,
कवि बाबूराम सदैव अभयकारी है।
*************************
                     2
मनवांछित दाता विधाता शांति शुभ सुख ,
सुमुक्ति कैवल्य बैकुण्ठ मोक्ष दाता  है ।
शिव अमोल जाप त्रिभुवन त्रिलोक छाप ,
विष को भी शिव नाम पीयूष बनाता है ।
जाग मानव जीवन में संशय भ्रम त्याग ,
शंकर का जाप भव पार को लगाता है ।
अर्चन वन्दन अभिनन्दन शिव नाम का ,
कवि बाबूराम अमर पद दिलाता है ।
*************************
                     3
उत्तम से उत्तम सर्वोतम कल्याण कारी,
कायाकल्प करने में शंकर भगवान है ।
दारिद्र दुख दाह शोक पाप विपत्ती को ,
पल में मिटाने वाले महा अगुआन है ।
करुणा के सागर सु नागर सब देवों में ,
दानी में अवढर महिमा में महान है।
शिव स्वरुप भव्य अभय शरण सदा ,
कवि बाबूराम सुख पावत जहान है ।
*************************
                       4
पामर पतित महा अधम अघोर पापी ,
तरि गयो शिव शरण शीश झुकाय के ।
अबला अनाथ दीन दुखिया सनाथ  भयो ,
शंकर भगवान सु नाम नित गाय के ।
रिक्त कर आज तक लौटा नही भक्त कोई ,
शंकर शरण शिव व्दार कभी जाय के ।
त्राही -त्राही नाथ अपना लो अघहर स्वामी ,
कहे बाबूराम कवि शीश पद नाय के ।
*************************
बाबूराम सिंह कवि 
ग्राम -बड़का खुटहाँ ,पोस्ट -विजयीपुर (भरपुरवा )
जिला -गोपालगंज (बिहार )
पिन-841508
मो0नं0-9572105032
*************************
 वेवसाइड पर प्रकाशनार्थ

Badlavmanch

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें