सोमवार, 20 जुलाई 2020

हमर गांव हमर गोठ


 हमर गांव हमर गोठ
✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️
*हरेली तिहार छत्तीसगढ़*

■ हमर गांव अऊ हमर गोठान,
   गांव के चौपाल अऊ गांव के सियान।
   दाई ददा अऊ जम्मों किसान ,
   हमर गांव अऊ हमर गोठान।

■अब हरेली अमावश तिहार आगे ,
   हमर खेतिहर गैंती,अऊ नागर धोआ गे।
   "नरवा" में नहावे ,"गरवा" अऊ बैला ,
   पूजा में भोग चढ़ाबो चाऊर के चीला।

■किसान के मन मा खुशी आगे,
   जम्मों खेत मा हरियाली छागे।
   रंग बिरंगी फूल अऊ फूलवारी,
   छलकत तरिया अऊ सुग्घर "घुरवा"बारी।
   
■लइका मन गेड़ी चढ़ के भारी खुशी,
   हमर गांव देहात के चटनी अऊ बासी ।
   हमर छ.ग. अऊ हमर पहचान ,
   हमर गांव अऊ हमर गोठान ।


रचना✍️ :- सुशीला साहू "विद्या"
                 रायगढ़ (छ.ग.)
Badlavmanch

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें