सोमवार, 27 जुलाई 2020

संत शिरोमणि श्री गोस्वामी तुलसीदास जी के चरणों में समर्पित रचना

मंच को नमन
संत शिरोमणि श्री गोस्वामी तुलसीदास जी के चरणों में समर्पित रचना

कानो गुणान करें तुलसी को 
गुणान की खान बतावन वारो
ज्ञान को सारा भरो हर शब्द में
जो भाव पार उतारन वारो
दूजो ना जन्मों कोऊ अबे
सत् ज्ञान की गंगा बहावन बारो
ज्ञान को सिंधु भरो श्री राम को
राम से प्रीति करावन बारो

जो है अनादि अनंत को ज्ञान
अनंत के भेद सुजावन बारो
जीव में ब्रह्म और ब्रह्म में जीव
जो व्यापक ब्रह्म दिखावन बारो
ऐसो जो मानस ग्रंथ महान
जो काल को बार बचाबन वारो
माणिक राम को नाम महामणि
काल को धूरि चटाबन  वारो
---------------------------------
मैं घोषणा करता हूं कि यह रचना मौलिक स्वरचित है।
भास्कर सिंह माणिक कोंच

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें