Business

कवयित्री सविता मिश्रा जी द्वारा रचना (विषय - जन्मदिन विशेषांक)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
🙏मंच नमन 🙏 विषय - जन्मदिन विशेषांक शीर्षक - काव्यांजलि दिनांक - 23-09-2020 विधा - कविता जन्म हुआ 23 सितंबर सन 1908 में, सिमरिया घाट बेगूसर...Read More
कवयित्री सविता मिश्रा जी द्वारा रचना (विषय - जन्मदिन विशेषांक) कवयित्री सविता मिश्रा जी द्वारा रचना (विषय - जन्मदिन विशेषांक) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री साधना मिश्रा विंध्य जी द्वारा रचना (विषय- रात बढ़ने लगी)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
🙏 पावन मंच को नमन 🙏 विधा- गीत विषय -  *रात बढ़ने लगी* 💕💕💕💕💕💕💕💕 रात बढ़ने लगी जिंदगी की मेरी रौशनीं से दूर वह जाती रही, बड़ी दूर तक...Read More
कवयित्री साधना मिश्रा विंध्य जी द्वारा रचना (विषय- रात बढ़ने लगी) कवयित्री साधना मिश्रा विंध्य जी द्वारा रचना (विषय- रात बढ़ने लगी) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा रचना (विषय- फूल)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
नमन वीणा वादिनी 🌹💐🌹💐🌺🌸🌷🌼🌻 दिनांक--24/09/2020 दिवस---- बुधवार  विषय-- फूल        (बालकविता) *************************  फ...Read More
कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा रचना (विषय- फूल) कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा रचना (विषय- फूल) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री चंचल हरेंद्र वशिष्ट जी द्वारा रचना (विषय- हम तुम)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
हम तुम.. अब साथ ही रहेंगे हमेशा...... क्या करें ये साथ सुखद तो नहीं मगर मजबूरी है क्या करें फिर... बस अब., तुमसे रखनी अब दूरी है...Read More
कवयित्री चंचल हरेंद्र वशिष्ट जी द्वारा रचना (विषय- हम तुम) कवयित्री चंचल हरेंद्र वशिष्ट जी द्वारा रचना (विषय- हम तुम) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवि रूपक जी द्वारा रचना (विषय- औरत)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
औरत..... क्या बदला है  उस युग से इस युग तक तब भी चीरहरण होता था  किसी औरत का  आज भी चीरहरण कर रहा है बस नाम और शरीर बदल गया है तब भी एक औरत ...Read More
कवि रूपक जी द्वारा रचना (विषय- औरत) कवि रूपक जी द्वारा रचना (विषय- औरत) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवि श्याम कुँवर भारती जी द्वारा रचना (विषय-श्याम भजन)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
श्याम भजन – चित चोर श्याम | दिल मे बसाया तुझे मुझे भूल जाना नहीं | चित चोर श्याम नजरों कभी गिराना नहीं | तेरे रूप की दीवानी मेरी...Read More
कवि श्याम कुँवर भारती जी द्वारा रचना (विषय-श्याम भजन) कवि श्याम कुँवर भारती जी द्वारा रचना (विषय-श्याम भजन) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा रचना (विषय-- नशा)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
नमन वीणा वादिनी दिनांक--24/09/2020 दिवस --गुरुवार विषय-- **नशा** विधा---- हाइकु मेरे देश में~ नशा अभिशाप हो मत लो इसे। गिर गया ह...Read More
कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा रचना (विषय-- नशा) कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा रचना (विषय-- नशा) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री आरती तिवारी सनत जी द्वारा रचना (विषय - कुछ अनकहे अल्फाज़)

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
२४/०९/२०२० विषय - कुछ अनकहे अल्फाज़ ************************ हां मैं नारी हूं.. समझौता जीवन मेरा.. कई रिश्ते निभाने हैं.. हर कदम...Read More
कवयित्री आरती तिवारी सनत जी द्वारा रचना (विषय - कुछ अनकहे अल्फाज़) कवयित्री आरती तिवारी सनत जी द्वारा रचना (विषय - कुछ अनकहे अल्फाज़) Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवि भास्कर सिंह माणिक कोंच द्वारा विषय- “रात बढ़ने लगी” पर रचना

माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर सितंबर 24, 2020
मंच को नमन दिनांक - 24 सितंबर 2020 विषय- रात बढ़ने लगी अब तक नहीं लोटा मेरा बेटा मोटा प्रात से सांझ हो गई रात बढ़ने लगी काम की त...Read More
कवि भास्कर सिंह माणिक कोंच द्वारा विषय- “रात बढ़ने लगी” पर रचना कवि भास्कर सिंह माणिक कोंच द्वारा विषय- “रात बढ़ने लगी” पर रचना Reviewed by माँ भगवती कंप्यूटर& प्रिंटिंग प्रेस मुबारकपुर on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री गरिमा विनीत भाटिया जी द्वारा "आँखों के किनारे ठहरा एक आँसू" रचना*

बदलाव मंच सितंबर 24, 2020
*नमन-बदलाव मंच*   *शीर्षक- आँखो के किनारे  ठहरा एक आँसू*      "आँखो के किनारे  ठहरा एक आंँसू"     मोती सा चमका यूं ओझल सा हो गया  ...Read More
कवयित्री गरिमा विनीत भाटिया जी द्वारा "आँखों के किनारे ठहरा एक आँसू" रचना* कवयित्री गरिमा विनीत भाटिया जी द्वारा "आँखों  के किनारे  ठहरा एक आँसू" रचना* Reviewed by बदलाव मंच on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवि बाबूराम सिंह जी द्वारा 'राष्ट्र को बचाइए' विषय पर रचना

बदलाव मंच सितंबर 24, 2020
राष्ट्र को बचाइए  ******************* सोचिये विचारिये सुधारिये स्वयं को सदा,  मानवता महक जग बिच फैलाइए। जाति प्रान्त भाषावाद छोड के विवाद सब...Read More
कवि बाबूराम सिंह जी द्वारा 'राष्ट्र को बचाइए' विषय पर रचना कवि बाबूराम सिंह जी द्वारा 'राष्ट्र को बचाइए' विषय पर रचना Reviewed by बदलाव मंच on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवयित्री डॉ. रेखा मंडलोई जी द्वारा 'चीन को ललकार' विषय पर रचना

बदलाव मंच सितंबर 24, 2020
पटल को नमन, दिनकर जयंती के अवसर पर दिनकर जी की एक उत्कृष्ट रचना ' कृष्ण की चेतावनी' की चार पंक्तियां प्रस्तुत कर दिनकर जी के प्रति अ...Read More
कवयित्री डॉ. रेखा मंडलोई जी द्वारा 'चीन को ललकार' विषय पर रचना कवयित्री डॉ. रेखा मंडलोई जी द्वारा 'चीन को ललकार' विषय पर रचना Reviewed by बदलाव मंच on सितंबर 24, 2020 Rating: 5

कवि दिनेश चंद्र प्रसाद "दीनेश" जी द्वारा "झिलमिल तारे" विषय पर रचना

बदलाव मंच सितंबर 24, 2020
बदलाव अंतरराष्ट्रीय-रा दिनाँक -२२-९-२०२० शीर्षक-"झिलमिल तारे" अम्बर में चमकने वाले झिलमिल तारे अपनी-अपनी पहचान रखते है...Read More
कवि दिनेश चंद्र प्रसाद "दीनेश" जी द्वारा "झिलमिल तारे" विषय पर रचना कवि दिनेश चंद्र प्रसाद "दीनेश" जी द्वारा "झिलमिल तारे" विषय पर रचना Reviewed by बदलाव मंच on सितंबर 24, 2020 Rating: 5
घीया खाओ, सेहत बनाओ#शशिलता पाण्डेय जी द्वारा# घीया खाओ, सेहत बनाओ#शशिलता पाण्डेय जी द्वारा# Reviewed by प्रकाश कुमार on सितंबर 24, 2020 Rating: 5
फूल#नीलम डिमरी जी द्वारा खूबसूरत रचना# फूल#नीलम डिमरी जी द्वारा खूबसूरत रचना# Reviewed by प्रकाश कुमार on सितंबर 24, 2020 Rating: 5
Blogger द्वारा संचालित.